Pyar Ki Barsat Me Deedar Kafi Hai
Ishq Ki Bauchhar Me Tera Saath Kafi Hai
Mere Pyar Ki Gahraiyon Ko Na Kam Samjh
Tere Paas Hone Ka Bas Ehsaas Kafi Hai ||

प्यार की बरसात में दीदार काफी है
इश्क़ की बौछार में तेरा साथ काफी है
मेरे प्यार की गहराइयों को ना काम समझ
तेरे पास होने का बस एहसास काफी है ||

Loading

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here