Haan Main Thodi Ajeeb Si Hoon
Magar Pyar Tumhi Se Karti Hoon
Jo Bahut Mujhe Sataaye
Main Tang Usi Ko Karti Hoon
Kal Rooth Gayi Thi Jis Baat Per
Aaj Pasand Usi Ko Karti Hoon
Haan Main Thodi Ajeeb Si Hoon
Magar Pyar Tumhi Se Karti Hoon………..

हाँ मैं थोड़ी अजीब सी हूँ
मगर प्यार तुम्ही से करती हूँ
जो बहुत मुझे सताये
मैं तंग उसी को करती हूँ
कल रुठ गयी थी जिस बात पर
आज पसंद उसी को करती हूँ
हाँ मैं थोड़ी अजीब सी हूँ
मगर प्यार तुम्ही से करती हूँ………..

Saadgi Hi Mera Roop Hai
Saadgi Hi Mera Shringaar Hai
Bharosa Khud Per Na Hai
Jitna Tujh Pe Karti Hoon
Haan Main Thodi Ajeeb Si Hoon
Magar Pyar Tumhi Se Karti Hoon………..

सादगी ही मेरा रुप है
सादगी ही मेरा श्रृंगार है
भरोसा खुद पर ना है
जितना तुझ पे करती हूँ
हाँ मैं थोड़ी अजीब सी हूँ
मगर प्यार तुम्ही से करती हूँ………..

Apno Se Karti Hoon Bahut Pyar
Or Khud Se Bhi Karti Hoon Beshumaar
Sab Mere Liye Krte Hai Bahut Kuchh
Magar Main Nahi Kar Paati Kuchh Khud Se
Rahti Hoon Magan Tere Hi Khayalo Me
Laton Ko Uljhaaye Hue Khud-B-Khud
Haan Main Thodi Ajeeb Si Hoon
Magar Pyar Tumhi Se Karti Hoon………..

अपनों से करती हूँ बहुत प्यार
और खुद से भी करती हूँ बेशुमार
सब मेरे लिए करते हैं बहुत कुछ
मगर मैं नहीं कर पति कुछ खुद से
रहती हूँ मगन तेरे ही ख़यालो में
लटों को उलझाए हुए खुद-ब-खुद
हाँ मैं थोड़ी अजीब सी हूँ
मगर प्यार तुम्ही से करती हूँ………..

By: Aarti Sharma

 1,759 Total Views,  2 Views Today

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here